आयुष्मान कार्ड योजना Ayushman Card: जानें लाभ, आवेदन कैसे करें और पंजीकरण प्रक्रिया

प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को उनकी बेहतरी के लिए डिजिटल स्वास्थ्य कार्ड(Digital swasthya card) प्रदान करने के लिए “आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन” (Ayushman Bharat Digital Mission) शुरू किया है। इन आईडी कार्डों में ग्राहकों के सभी अनिवार्य स्वास्थ्य रिकॉर्ड होंगे। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (ABPM-JAY) की तीसरी वर्षगांठ मनाने के लिए ये स्वास्थ्य पहचान पत्र राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) के साथ शुरू किए जाएंगे। इसलिए इन डिजिटल हेल्थ कार्ड (Digital health id card) को आयुष्मान कार्ड (Ayushman Card)के नाम से भी जाना जाता है।

वर्तमान में, राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन (NDHM) के तहत एक लाख से अधिक अद्वितीय डिजिटल कार्ड जारी किए गए हैं। 15 अगस्त 2021 को इन स्वास्थ्य पहचान पत्रों को पायलट आधार पर छह राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पेश किया गया था।

डिजिटल हेल्थ आईडी Digital Health ID Card: जरूरी चीजें जो आपको जरूर जाननी चाहिए

सरकार की अन्य डिजिटल पहलों (जन धन, आधार, और मोबाइल (जेएएम) ट्रिनिटी) की तरह, पीएम-डीएचएम डेटा, सूचना और बुनियादी सुविधाओं की सेवाओं की मदद से एक त्रुटिहीन ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तैयार करेगा, जो खुले, इंटरऑपरेबल का विधिवत लाभ उठाएगा। मानक-आधारित डिजिटल सिस्टम, और इसी तरह। ये डिजिटल हेल्थ कार्ड अत्यधिक सुरक्षा, गोपनीयता प्रदान करेंगे और सभी महत्वपूर्ण व्यक्तिगत स्वास्थ्य संबंधी सूचनाओं की गोपनीयता भी बनाए रखेंगे। इसका मुख्य उद्देश्य डिजिटल हेल्थ इकोसिस्टम के भीतर इंटरऑपरेबिलिटी बनाना है। इसके अलावा, ये राष्ट्रीय स्वास्थ्य पहचान पत्र आंतरिक संचालन को सुविधाजनक और परेशानी मुक्त बनाएंगे।

पीएम-डीएचएम का प्रमुख घटक एक अद्वितीय स्वास्थ्य आईडी है। यह आईडी प्रत्येक भारतीय नागरिक के लिए 14 अंकों की विशिष्ट स्वास्थ्य पहचान संख्या है। यह आईडी हेल्थ अकाउंट की तरह भी काम करेगी। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आईडी किसी व्यक्ति की सभी आवश्यक स्वास्थ्य जानकारी संग्रहीत करेगा। किसी व्यक्ति की सहमति से, इस स्वास्थ्य आईडी का उपयोग किया जाएगा और यह व्यक्तियों के स्वास्थ्य रिकॉर्ड के आदान-प्रदान की भी अनुमति देता है।

इस डिजिटल स्वास्थ्य खाते में प्रत्येक परीक्षण, प्रत्येक बीमारी, डॉक्टर की यात्रा, क्या दवाएं ली जाती हैं, और एक व्यक्ति के निदान का विवरण होगा। चूँकि यह कार्ड पोर्टेबल है और आसानी से पहुँचा जा सकता है, इसलिए यह जानकारी तब भी फायदेमंद होती है जब रोगी किसी नए स्थान पर चला जाता है या किसी नए डॉक्टर से सलाह लेता है।

यह स्वास्थ्य कार्ड किसी व्यक्ति के मोबाइल नंबर या आधार नंबर के साथ उसके मूल विवरण के आधार पर जारी किया जाता है। इस कार्ड को किसी व्यक्ति के व्यक्तिगत विवरण से जोड़ा जा सकता है। आप इसे एक मोबाइल एप्लिकेशन, हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स रजिस्ट्री (एचपीआर) और हेल्थकेयर फैसिलिटीज रजिस्ट्रीज (एचएफआर) की मदद से देख सकते हैं।

एनडीएचएम के तहत हेल्थ आईडी स्वैच्छिक है, और इसके लिए आपको कुछ भी भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है। सरकार का मानना ​​है कि इस स्वास्थ्य डेटा का विश्लेषण कर वे बेहतर योजना बना सकेंगे और ठोस निर्णय ले सकेंगे. इस हेल्थ आईडी का उपयोग करके सरकार बजट के अनुकूल तरीके से राज्यों में स्वास्थ्य कार्यक्रमों को लागू कर सकती है। इस डिजिटल हेल्थ कार्ड से नागरिक सभी स्वास्थ्य सुविधाओं तक आसानी से पहुंच सकते हैं।

आयुष्मान कार्ड योजना Ayushman Card के लिए आवेदन कैसे करें?

आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड में किसी व्यक्ति की सभी आवश्यक स्वास्थ्य संबंधी जानकारी होती है। इसलिए, आयुष्मान कार्ड अप्लाई ऑनलाइन आवेदन जमा करने के बाद प्रत्येक नागरिक अपने इलेक्ट्रॉनिक स्वास्थ्य रिकॉर्ड को निःशुल्क एक्सेस कर सकता है।

www.nrhm.gov.in की मदद से नागरिक आवेदन जमा कर सकते हैं। यह वेबसाइट एक व्यक्तिगत कार्ड के मालिक और इसे प्रदान करने वाले डॉक्टर की सभी स्वास्थ्य जानकारी को सहेज कर रखेगी। सभी आयुष्मान भारत स्वास्थ्य कार्डधारक अपने रिकॉर्ड और स्वास्थ्य संबंधी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इस आयुष्मान कार्ड तक पहुंच स्वामी तक ही सीमित है।

डिजिटल स्वास्थ्य आईडी कार्ड Digital Health ID Card पंजीकरण प्रक्रिया

क्या आप जानना चाहते हैं कि आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें? एनडीएचएम हेल्थ रिकॉर्ड ऐप का उपयोग करके आप अपने मोबाइल डिवाइस पर आसानी से एक डिजिटल हेल्थ कार्ड बना सकते हैं।

इस आवेदन के लिए पंजीकरण करने के लिए आपको नीचे दिए गए चरणों से गुजरना होगा।

Must Read: स्वदेश दर्शन योजना

आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड Ayushman Swasthya Card के लिए आवेदन करने के त्वरित चरण

चरण 1: सबसे पहले एनडीएचएम हेल्थ रिकॉर्ड्स के लिए ऐप डाउनलोड करें

चरण 2: फिर, रजिस्टर नाउ पर क्लिक करें और अपनी पसंदीदा भाषा चुनें

चरण 3: यहां, आपको पंजीकरण के लिए दो विकल्प मिल सकते हैं। या तो आपको एक मोबाइल नंबर या अपने आधार कार्ड के साथ पंजीकरण करना होगा

चरण 4: आधार कार्ड लिंक पर क्लिक करें और आवश्यक विवरण दर्ज करें।

चरण 5: आपको अपने पंजीकृत मोबाइल फोन नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा

स्टेप 6: आपका हेल्थ आईडी कार्ड बन जाएगा। अब, आपको एक उपयोगकर्ता नाम बनाने की आवश्यकता है

चरण 7: आपको अपनी पहचान जैसे और दस्तावेज़ सबमिट करने पड़ सकते हैं।

चरण 8: पूरा होने के बाद, आपको अपना डिजिटल हेल्थ कार्ड प्राप्त होगा

स्टेप 9: अब, अपने डिजिटल हेल्थ कार्ड के लिए एक मजबूत पासवर्ड बनाएं

चरण 10: लॉगिन करते समय, हमेशा मान्य क्रेडेंशियल्स का उपयोग करें

Must Read: अग्निपथ योजना

आयुष्मान कार्ड Ayushman Card क्या है और इस कार्ड के क्या फायदे हैं?

ज्यादातर लोग आमतौर पर अपनी स्वास्थ्य सेवा कागज के रूप में रखते हैं। लेकिन बहुत बार, वे उन कागजों को खो देते हैं, या समय के साथ कागजात खराब हो जाते हैं। यह बहुत सारी समस्याएं पैदा कर सकता है, खासकर स्वास्थ्य संबंधी आपात स्थिति के दौरान। लेकिन अगर सब कुछ डिजिटल रूप से संग्रहीत किया जाता है, तो उम्मीदवार अपनी स्वास्थ्य संबंधी जानकारी आसानी से कहीं भी आसानी से ले जा सकते हैं। इसके अलावा, डिजिटल सिस्टम के साथ खो जाने की बहुत कम संभावना होगी, इसलिए ये डिजिटल हेल्थ आईडी कार्ड सभी के लिए फायदेमंद हैं। आयुष्मान भारत हेल्थ कार्ड (Ayushman Bharat health card) वह है जहां किसी व्यक्ति की सभी प्रासंगिक स्वास्थ्य संबंधी जानकारी डिजिटल रूप से सहेजी जाती है।

श्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2021 को देश के सभी नागरिकों को डिजिटल हेल्थ आईडी कार्ड जारी किया है। स्वास्थ्य संबंधी जानकारी के साथ-साथ यह हेल्थ कार्ड स्वास्थ्य संबंधी सभी खर्चों को दिखाएगा।

  • एक डिजिटल कार्डधारक स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं और डॉक्टरों के सभी विवरण देख सकता है
  • आपको अपने उपचार, डिस्चार्ज और आपके द्वारा किए गए प्रत्येक परीक्षण के सभी विवरण मिलेंगे। जब आप किसी पेशेवर अस्पताल में जाते हैं तो यह लाभकारी ऑनलाइन टूल आपको उन सभी रिकॉर्डों को चित्रित करेगा जिनकी आपको आवश्यकता है।
  • यदि आप किसी चिकित्सक को अपना कार्डधारक आईडी देते हैं, तो वह किसी भी समय आपके मेडिकल रिकॉर्ड तक पहुंच सकता है और आपकी बीमारियों के लिए सर्वोत्तम उपचार का सुझाव देगा।

उनका आयुष्मान हेल्थ कार्ड (Ayushman card) इस कोविड-19 महामारी के समय में हर नागरिक के लिए फायदेमंद है। यह कार्ड प्रदर्शित करता है कि किसी व्यक्ति को टीका लगाया गया है या नहीं। इसके अलावा, इस कार्ड का उपयोग करके कोई व्यक्ति देश के किसी भी कोने में सबसे अच्छा इलाज प्राप्त कर सकता है।

इसे भी पढ़े: भारतनेट योजना

Leave a Comment