Rajasthan Udan Yojana राजस्थान उड़ान योजना : लाभ, उद्देश्य

हवाई यात्रा को सस्ता और व्यापक बनाने के लिए भारत सरकार ने उड़े देश का आम नागरिक योजना शुरू की है जिसे राजस्थान उड़ान योजना ( Udaan Scheme ) के नाम से भी जाना जाता है। इस योजना के माध्यम से हवाई यात्रा को बढ़ावा देने के लिए कई तरह के उपाय किए जाते हैं। यह लेख UDAN योजना के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी को कवर करेगा। आपको पता चल जाएगा कि आप योजना का लाभ कैसे उठा सकते हैं। इसके अलावा आपको इसकी कार्यान्वयन प्रक्रिया के बारे में भी जानकारी मिलेगी। इसलिए योजना के बारे में हर विवरण जानने के लिए आपको इस लेख को पढ़ना होगा।

राजस्थान उड़ान योजना  के बारे में

उड़ान योजना Udaan Scheme मूल रूप से एक क्षेत्रीय हवाई अड्डा विकास कार्यक्रम है जिसे भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया है। यह मूल रूप से अंडर-सर्विस्ड हवाई मार्गों के उन्नयन के लिए एक क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना का एक हिस्सा है। इस योजना के माध्यम से हवाई यात्रा को सस्ता और व्यापक बनाया जाएगा। इस योजना के माध्यम से हवाई यात्रा को सस्ता और सस्ता बनाया जाएगा और छोटे शहरों को बड़े शहरों से जोड़ा जाएगा। योजना के तहत पहली उड़ान 2017 में भरी थी। करीब 60 लाख लोगों ने महज 2500 रुपए में हवाई सफर किया है। इस योजना के जरिए 1000 रूटों को हवाई सेवाओं से जोड़ा जाएगा। योजना के लागू होने से हर साल एक करोड़ लोग हवाई यात्रा करेंगे।

राजस्थान उड़ान योजना का उद्देश्य

उड़ान योजना Udaan Scheme का मुख्य उद्देश्य छोटे और मध्यम शहरों को हवाई सेवा के माध्यम से बड़े शहरों से जोड़ना है। इस योजना के तहत देश के नागरिकों के लिए सस्ती और सस्ती हवाई यात्रा की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। बहुत सारे नागरिक सस्ते किराए पर हवाई परिवहन के माध्यम से यात्रा कर सकेंगे। सरकार इस योजना को लागू करने के लिए सब्सिडी प्रदान करने जा रही है। इस योजना से देश में जीवन स्तर में सुधार होगा। उसके अलावा समय और प्रयास भी बचेंगे। नागरिक कम समय में पूरे देश में यात्रा कर सकते हैं। इस योजना से देश के सभी आम नागरिक हवाई जहाज से यात्रा कर सकेंगे। इस योजना से पूरे देश में रोजगार के अवसरों में भी सुधार होगा।

उड़ान योजना का कार्यान्वयन

  • इस योजना के तहत एविएशन कंपनी ने हवाई मार्ग के लिए बोली लगाई थी
  • जो कंपनी सबसे कम सब्सिडी मांगती है उसे ठेका दिया जाता है
  • इस योजना के तहत प्रत्येक उड़ान का किराया, एयरलाइन को आधा या न्यूनतम 9 या अधिकतम 40 सीटें बुक करनी होती हैं।
  • इस योजना के माध्यम से देश के छोटे शहरों को देश से जोड़ा जाएगा
  • वर्तमान में टैक्सी से यात्रा करने का किराया 10 रुपये प्रति किलोमीटर है लेकिन इस योजना के तहत 500 किमी हवाई यात्रा का किराया 2500 रुपये ही निर्धारित किया गया है।
  • यानी 5 रुपये प्रति किलोमीटर जो टैक्सी यात्रा लागत से कम है
  • इस योजना के लागू होने से देश के नागरिकों के समय और धन की बचत होगी
  • इस योजना के लागू होने से एयरपोर्ट ऑपरेशन, एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस, एयर ट्रैफिक कंट्रोल और टेक्निकल स्टाफ जैसे सेक्टर में रोजगार सृजित होता है
  • इस योजना के माध्यम से पर्यटन को भी बढ़ावा दिया जाएगा
  • योजना के तहत 46 महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों का चयन किया गया है

उड़ान योजना का शुभारंभ

  • वर्ष 2016 में, केंद्र सरकार ने एक राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन नीति की घोषणा की है
  • उड़ान योजना राष्ट्रीय नागरिक उड्डयन नीति का एक घटक थी
  • इस योजना को उड़े देश का आम नागरिक के नाम से भी जाना जाता है
  • सरकार ने अक्टूबर 2016 में इस योजना की शुरुआत की है
  • योजना के तहत अप्रैल 2017 में शिमला से दिल्ली के लिए पहली फ्लाइट को खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरी झंडी दिखाई थी।
  • इस योजना के तहत, भारत सरकार कम किराए के कारण एयरलाइनों को होने वाले नुकसान के लिए वायबिलिटी गैप फंडिंग के रूप में क्षतिपूर्ति करती है।
  • एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने एयरपोर्ट फीस भी माफ कर दी है
  • राज्य सरकारें सुरक्षा, बिजली और अग्निशमन सुविधाएं भी मुफ्त मुहैया करा रही हैं

Must Read: प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

उड़ान योजना की प्रगति

  • इस योजना के तहत चार चरणों में उड़ान 1, उड़ान 2, उड़ान 3 और उड़ान 4 में मंजूरी दी गई है।
  • योजना के तहत 98 हवाई अड्डे, 33 हेलीपोर्ट और 12 हवाईअड्डे चुने गए हैं
  • अब 59 हवाईअड्डों पर 350 से ज्यादा रूटों पर 5 हेलिकॉप्टर और 2 एयरोड्रम से हवाई सेवाएं दी जा रही हैं
  • सरकार ने योजना के तहत एक हेलीकॉप्टर और सीप्लेन सेवा को शामिल किया है
  • योजना के तहत 11 ऑपरेटर यात्रियों को सस्ता टिकट मुहैया करा रहे हैं
  • योजना के तहत 28 जून 2021 तक 132800 उड़ानें भरी जा चुकी हैं
  • यात्रियों को सस्ती दर पर टिकट मिल सके इसके लिए सरकार ने 1228 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी है
  • इस योजना के तहत लगभग 60 लाख लोगों ने सस्ती दरों पर यात्रा की है
  • देश में छोटे और मझोले शहरों के हवाईअड्डों की हिस्सेदारी 5% बढ़ी
  • सरकार अतिरिक्त 100 हवाई अड्डों के साथ 1000 नए मार्गों को शामिल करेगी
  • 28 हेलीपोर्ट और सीप्लेन के लिए 10 वाटर एयरोड्रोम पेश किए जाएंगे
  • योजना के तहत, पूर्वोत्तर राज्यों में 10 हवाई अड्डे प्रस्तावित किए गए हैं
  • सरकार ने इस योजना के तहत लोगों को सालाना 1 करोड़ टिकट सस्ती दरों पर उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा है
  • योजना के तहत देश के लगभग 300 शहर एक दूसरे से जुड़ जाएंगे। इन 300 शहरों में से अब तक 150 शहरों को जोड़ा जा चुका है

Must Read: प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

जबलपुर में उड़ानों का उद्घाटन

31 मई 2022 को नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मध्य प्रदेश के जबलपुर से दो उड़ानों का उद्घाटन किया। इस योजना के तहत पिछले 6 वर्षों में 1.94 लाख उड़ानें संचालित की गई हैं। इन फ्लाइट्स के जरिए 1 करोड़ से ज्यादा यात्रियों ने सफर किया है। मध्य प्रदेश में भी पिछले 10 महीनों में फ्लाइट मूवमेंट में 70% की बढ़ोतरी हुई है। यह जानकारी नागरिक उड्डयन मंत्री ने दी है।

नई शुरू की गई उड़ानों में दिल्ली-जबलपुर-भोपाल-ग्वालियर सप्ताह में 3 दिन और दिल्ली-जबलपुर-बिलासपुर-भोपाल सप्ताह में चार दिन शामिल हैं। इन दो नई उड़ानों के कारण जबलपुर अब 8 शहरों से जुड़ गया है और पहले के 94 के मुकाबले प्रति सप्ताह 160 उड़ानें हैं। इंदौर से, 468 उड़ानें चलती हैं और 20 शहरों से कनेक्टिविटी है। भोपाल में भी 200 फ्लाइट मोमेंट्स और 12 शहरों से कनेक्टिविटी बनाई गई है। ग्वालियर में इस योजना से 8 शहरों को जोड़ने वाली 94 उड़ानें संभव हो पाई हैं

उड़ान योजना के लाभ और विशेषताएं

  • UDAN योजना मूल रूप से एक क्षेत्रीय हवाई अड्डा विकास कार्यक्रम है जिसे भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया है।
  • यह मूल रूप से अंडर-सर्विस्ड हवाई मार्गों के उन्नयन के लिए एक क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना का एक हिस्सा है।
  • इस योजना के माध्यम से हवाई यात्रा को सस्ता और व्यापक बनाया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से हवाई यात्रा को सस्ता और सस्ता बनाया जाएगा और छोटे शहरों को बड़े शहरों से जोड़ा जाएगा।
  • योजना के तहत पहली उड़ान 2017 में भरी गई थी।
  • 2500 रुपए में ही करीब 60 लाख लोगों ने हवाई सफर किया है।
  • इस योजना के जरिए 1000 रूटों को हवाई सेवाओं से जोड़ा जाएगा।
  • योजना के लागू होने से हर साल एक करोड़ लोग हवाई यात्रा करेंगे

आप इसको भी पढ़ सकते हैं: प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना

Leave a Comment